मोदी-आबे के रोडशो से गुलजार हुई भारत-जापान की दोस्ती

अहमदाबाद। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने प्रोटोकॉल तोड़ते हुए बुधवार को जापानी प्रधानमंत्री शिंजो आबे के साथ अहमदाबाद में रोडशो किया, जिससे भारत और जापान के बीच मजबूत संबंधों की स्पष्ट झलक मिली। आबे 2 दिन की यात्रा पर भारत आए हैं। रोडशो में मोदी, आबे और आबे की पत्नी एकी आबे एक खुली जीप में सवार थे। तीनों सरदार वल्लभभाई पटेल इंटरनैशनल एयरपोर्ट से ऐतिहासिक साबरमती आश्रम तक गए। आठ किलोमीटर से अधिक के इस रास्ते पर दोनों ओर खड़े हजारों लोगों ने उनका अभिवादन किया।

रास्ते में 28 बड़े स्टेज बनाए गए थे जिन पर स्कूली बच्चों ने भारत की विविधता से भरपूर संस्कृति को दर्शाने वाली प्रस्तुतियां दीं। रोडशो के दौरान आबे ने नेहरू जैकेट पहनी थी, जबकि उनकी पत्नी सलवार कमीज में भारतीय रंग में नजर आ रही थी। मोदी और आबे जहां भीड़ की ओर हाथ हिला रहे थे, वहीं एकी तस्वीरें खींचने में व्यस्त दिखीं। आबे, एकी और मोदी ने साबरमती आश्रम में महात्मा गांधी की प्रतिमा पर फूल चढ़ाए। इसी स्थान से गांधी ने 1930 में दांडी मार्च की अगुवाई की थी, जिसे नमक सत्याग्रह के नाम से भी जाना जाता है। मोदी ने आश्रम के दौरे के दौरान मेहमानों को चरखे के महत्व की भी जानकारी दी।

PM ने बताया मस्जिद का इतिहास
साबरमती आश्रम के बाद दोनों प्रधानमंत्री और एकी आबे पुराने अहमदाबाद शहर में 16वीं शताब्दी की सिदी सैय्यद मस्जिद गए। मोदी ने इस दौरान आबे और एकी को मस्जिद की समृद्ध विरासत और आर्किटेक्चर के पहलुओं से अवगत कराया। इससे पहले मोदी ने प्रोटोकॉल तोड़ते हुए अहमदाबाद एयरपोर्ट पर आबे की व्यक्तिगत तौर अगवानी की। एयरपोर्ट पर बौद्ध भिक्षुओं ने आबे का स्वागत मंत्रोचार के साथ किया।

गुरुवार को मोदी और आबे 1.08 लाख करोड़ के महत्वाकांक्षी अहमदाबाद-मुंबई हाई-स्पीड रेल प्रॉजेक्ट के निर्माण की शुरुआत करेंगे। इसके बाद गांधीनगर में 12वां एनुअल द्विपक्षीय समिट आयोजित किया जाएगा। इसमें दोनों देशों के बीच बहुत से समझौते होने की उम्मीद है। यह मोदी और आबे के बीच चौथा एनुअल समिट होगा। इसमें सामरिक भागीदारी बढ़ाने पर जोर दिया जाएगा।

रूस के अलावा जापान एकमात्र ऐसा देश है जिसके साथ भारत की सालाना समिट करने की व्यवस्था है। मोदी और आबे इंडिया-जापान बिजनस लीडर्स फोरम में भी हिस्सा लेंगे। अहमदाबाद और गांधीनगर में जापानी प्रधानमंत्री की यात्रा के लिए पूरी तैयारियां की गई हैं। शहर में कई स्थानों पर होर्डिंग और कट-आउट लगे हैं और सड़कों पर शाम के समय फ्लोरोसेंट लाइटिंग की व्यवस्था की गई है। सुरक्षा काफी सख्त है और दोनों शहरों में 9,000 से अधिक पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया है। आबे ने भारत आने से पहले एक बयान में कहा, ‘प्रधानमंत्री मोदी चीजों को करने की असाधारण क्षमता रखने वाले एक मजबूत नेता है।’ इस पर बुधवार सुबह मोदी ने ट्वीट कर आबे को धन्यवाद दिया।

Comments

comments