भारतीय मिसाइल के टारगेट पर चीन!

अमेरिकी विशेषज्ञों ने दावा किया है कि भारत ऐसी परमाणु मिसाइल तैयार कर रहा है, जो दक्षिण भारत के अपने बेस से पूरे चीन को निशाना बना सकती है। साथ ही चीन के खतरे को देखते हुए भारत अपने परमाणु शस्त्रागार और परमाणु रणनीति का लगातार आधुनिकीकरण कर रहा है। इनका यह भी दावा है कि पहले भारत का ध्यान पाकिस्तान पर केंद्रित था, लेकिन अब पूरा जोर चीन की ओर है।
अमेरिकी विशेषज्ञों का दावा : एक ऑनलाइन पत्रिका में ‘इंडियन न्यूक्लियर फोर्स 2017’ शीर्षक वाले लेख में हेंस एम. क्रिस्टिनसन और रॉबर्ट एस‘ नोरिस ने लिखा है कि एक अनुमान के मुताबिक, भारत के पास 150 से 200 परमाणु हथियार बनाने के लिए पर्याप्त प्लूटोनियम है। हालांकि अभी तक उसने 120 से 130 परमाणु हथियार ही बनाए हैं। लेख में कहा गया कि भारत का ध्यान पारंपरिक रूप से पाकिस्तान से अपनी सुरक्षा के लिए परमाणु हथियार विकसित करने पर रहा है, लेकिन अब एटमी आधुनिकीकरण बताता है कि उसका ध्यान चीन से मिलने वाली सामरिक चुनौती पर है।
विशेषज्ञों का अनुमान है कि भारत के पास सात परमाणु सक्षम प्रणाली हैं। इनमें दो विमान, जमीन से संचालित होने वाली चार बैलिस्टिक मिसाइल और समुद्र से मार करने में सक्षम एक बैलिस्टिक मिसाइल हैं। इसके अलावा कम से कम चार और प्रणालियों पर काम चल रहा है, जिन्हें तेजी से विकसित किया जा रहा है। माना जा रहा है कि एक दशक में इन्हें तैनात कर दिया जाएगा।

Comments

comments