स्टीव स्मिथ की इस छोटी सी ‘नादानी’ ने पुणे के हाथ से छीना IPL का ताज

नई दिल्ली। पुणे सुपरजाएंट को हराकर मुंबई इंडियंस की टीम आइपीएल 10 की चैंपियन बन गई। हैदराबाद में खेले गए इस रोमांचक मुकाबले में मुंबई ने पुणे को 1 रन से मात देकर तीसरी बार आइपीएल का खिताब अपने नाम कर लिया। पुणे की टीम के पास अच्छा मौका था पहली और आखिरी बार इस खिताब को जीतकर इतिहास बनाने का, लेकिन इस टीम के कप्तान स्टीव स्मिथ एक छोटी सी नादानी कर बैठे और पुणे के हाथ से ताज फिसल गया।

स्मिथ कर बैठे ये बड़ी गलती

खिताबी मुकाबले के आखिरी ओवर में पुणे की टीम को जीत के लिए 6 गेंदों में 11 रन की दरकार थी। इस ओवर की पहली ही गेंद पर मनोज तिवारी ने चौका लगाकर रनों का संख्या को घटाकर 7 कर दिया, लेकिन इससे अगली ही गेंद पर तिवारी आउट हो गए। अब पुणे को जीत के लिए 4 गेंदों में 7 रन की दरकार थी, लेकिन अगली ही गेंद पर स्टीव स्मित भी अपना विकेट गंवाकर चलते बने। स्मिथ ने 50 गेंदों का सामना कर 51 रन की पारी खेली। इस अहम मौके पर स्मिथ ने अपना विकेट खो दिया। स्मिथ एक सेट बल्लेबाज़ थे और अगर वो क्रीज़ पर रहते तो उनके लिए 3 गेंदों में 7 रन बनाना कोई बड़ी बात नहीं होते, लेकिन वो तो आउट हो गए। स्मिथ के आउट होते ही पुणे के हाथ से ताज भी फिसल गया।

हारकर भी पुणे ने रचा इतिहास

पुणे की टीम पहली और आखिरी बार आइपीएल का फाइनल खेल रही थी। आखिरी बार इसलिए कह रहे हैं क्योंकि आइपीएल में अब पुणे और गुजरात की टीम नहीं दिखेगी। चेन्नई सुपर किंग्स और राजस्थान रॉयल्स के निलंबित होने के बाद इन दोनों टीमों को 2 साल के लिए इस टूर्नामेंट में शामिल किया गया था और ये दो साल पूरे हो गए हैं। भले ही पुणे की टीम आइपीएल 10 की चैंपियन बनने से चूक गई हो, लेकिन हारकर भी इस टीम ने पहली बार आइपीएल का फाइनल खेलकर रिकॉर्ड बुक्स में अइपीएल फाइनल खेलने वाली टीमों में अपना नाम तो शुमार करा ही लिया।

 

Comments

comments