अव्यवस्थाओं के बीच छात्र-छात्राओं और प्रतिष्ठित लोगों का सम्मान

झांसी। अखिल भारतीय वाल्मीकि महासभा झांसी मंडल की ओर से किए गए छात्र-छात्रा एवं साथ गौरव सम्मान समारोह अव्यवस्थाओं की भेंट चढ़ गया। आयोजक की उदासीनता की वजह से सम्मान समारोह पर कई सवाल खड़े हो गए। समारोह में दूर दराज जाए छात्र-छात्रा एवं सम्मानित लोग पीने के पानी को भी तरस गए।

झांसी के पंडित दीनदयाल उपाध्याय सभागार में छात्र-छात्रा एवं पुरुषार्थ गौरव सम्मान समारोह अखिल भारतीय वाल्मीकि महासभा झांसी मंडल की ओर से आयोजित किया गया था। सम्मान समारोह के आयोजन में मंडल अध्यक्ष बंटी करोसिया की अहम कर रही। सम्मान समारोह में बतौर मुख्य अतिथि राष्ट्रीय सफाई कर्मचारी आयोग की सदस्य मंजू दिलेर के अलावा दूसरे सदस्य महामंडलेश्वर स्वामी सदानंद, पुरकाजी से भाजपा विधायक प्रमोद ऊंटवाल मौजूद रहे। इसके अलावा अखिल भारतीय वाल्मीकि महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जी एस विश्नार और प्रदेश अध्यक्ष प्रदीप चौहान विशिष्ट अतिथियों के रूप में मौजूद रहे। कार्यक्रम में वाल्मीकि समाज के ऐसे लोगों को सम्मानित किया गया जो सफाई कर छोड़ दूसरे क्षेत्रों में काम कर रहे हैं। साथ ही दसवीं और बारहवीं कक्षा में प्रथम आए छात्र-छात्राओं को भी कार्यक्रम में सम्मानित किया गया।
कार्यक्रम में वक्ताओं ने वाल्मीकि समाज से जुड़ी समस्याओं को अतिथियों के सामने उठाया। इस मौके पर वाल्मीकि महासभा के प्रदेश अध्यक्ष प्रदीप चौहान ने समाज के लोगों को एकजुट होकर महासभा से जुड़ने की अपील की और समाज की लड़ाई में अपना पूरा योगदान देने का भरोसा दिया। राष्ट्रीय अध्यक्ष ने भी संगठन को मजबूत करने की अपील लोगों से की। कार्यक्रम मुख्य रूप से ऋषि वाल्मीकि, प्रदेश महामंत्री महेश वाल्मीकि, प्रदेश महामंत्री नितिन बाल्मिकी, प्रदेश सचिव मनजीत करोतिया, बाबूलाल चोखी, संतोष वाल्मिकी, दीपू पेंटर जिलाध्यक्ष ललितपुर, दीपक घावरी जिलाध्यक्ष झांसी, जगदीश बाल्मिकी जिलाध्यक्ष झांसी, राजेंद्र खरे मौजूद रहे। समारोह की खास बात यह रही कि पूरा कार्यक्रम अव्यवस्थाओं की भेट चढ़ रहा। सम्मान समारोह में शामिल हुए लोग पीने के पानी के लिए भी इधर-उधर भटकते दिखे।

Comments

comments