वाल्मीकि समाज की समस्या को भाजपा नेता प्रदीप चौहान ने उठाया, CM को भेजा ज्ञापन

गाजियाबाद। वाल्मीकि समाज की समस्याओं को लेकर भाजपा नेता प्रदीप चौहान ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को संबोधित एक ज्ञापन प्रदेश के राज्य मंत्री अतुल घर के माध्यम से भेजा। प्रदीप चौहान ने ज्ञापन में हिंड़न नदी पर खंडित की गई भगवान वाल्मीकि की प्रतिमा को दोबारा स्थापित करने और उत्तर प्रदेश के सभी नगर पालिका और नगर निगम में सफाई कम चारों का समान वेतन करने की मांग की।

कवि नगर की रामलीला मैदान में आयोजित संकल्प जनसभा में भाजपा देता प्रदीप चौहान ने मुख्यमंत्री को संबोधित ज्ञापन राज्यमत्री अतुल गर्ग को सौंपा। प्रदीप चौहान ने मुख्यमंत्री को संबोधित ज्ञापन में कहा है कि पिछली चार महीनों में उत्तर प्रदेश तरक्की की राह पर चल रहा है और भ्रष्टाचार करने वाले लोग अब डरने लगे हैं। पिछली सरकारों ने अंतिम पंक्ति में खड़े वाल्मीकि समाज को जमींदोज़ करने का काम किया। पिछली सरकार ने उनका राजनैतिक, सामाजिक और आर्थिक शोषण किया गया। उन्होंने कहा है कि पिछली सरकार को उखाड़ कर मौजूदा सरकार को वाल्मीकि समाज ने 46 प्रतिशत वोट देने का काम किया, इसलिए भाजपा सरकार से वाल्मीकि समाज की बेहद अपेक्षाएं हैं।

उन्होंने कहा कि पिछली सरकार के कार्यकाल में हिंडन नद के तट पर वाल्मीकि भगवान की मूर्ति को खंडित किया गया, जिसमें नगर निगम की कई तत्कालीन अधिकारी भी शामिल रहे। उन्होंने ऐसे अफसरों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने और मूर्ति को दोबारा स्थापित करने की मांग की। साथ ही उत्तर प्रदेश की नगरपालिका और नगर निगमों में सुप्रीम कोर्ट के आदेश के तहत समान वेतन लागू करने पर भी बल दिया। उन्होंने मानक के तहत सफाई कर्मचारियों को नियमित करने, राज्य में सफाई कर्मचारी आयोग के गठन और उसे संवैधानिक दर्जा किए जने की मांग की। वाल्मीकि समाज के लोगों को देश के मंत्रिमंडल में शामिल करने, एमएलसी और राज्यसभा में वाल्मीकि समाज के लोगों को मनोनीत करके उन्हें सम्मान देने के अलावा सफाई का कार्य ठेका मुख करने पर जोर दिया।

मंत्री को ज्ञापन देने वालों में भाजपा नेता उमेश गर्ग, किरण पाल सिंगौते, सतीश गेहरा, नीरज वाल्मीकि, सनी, संजय सूर्या, मनोज कांगड़ा, प्रवीण चौहान, सुनील पिहवाल, आजाद वाल्मीकि, सुनील ठेकेदार, संजय टांक, राहुल चौहान, सोनू शर्मा, राकेश त्यागी, गौरव भारद्वाज, नवनीत गुप्ता, भगत शर्मा, शिवचरण आदि शामिल रहे।

Comments

comments