प्रभा श्री साहित्य महोत्सव में राज्यपाल ने किया सहित्यधर्मियो को सम्मानित, यदुनाथ सिंह मुरारी शब्दार्थ गौरव पुरस्कार से विभूषित

न्यूज़ डेस्क नोएडा: उत्तर प्रदेश हिंदी संस्थान के यशपाल सभागार में आयोजित प्रभा श्री साहित्य महोत्सव में मुख्य अतिथि राज्यपाल श्री राम नाईक द्वारा बेहतरीन लेखन और समाजहित पत्रकारिता के लिए राष्ट्रीय सम्मान प्राप्त यदुनाथ सिंह मुरारी समेत लगभग आधा दर्जन साहित्यधर्मियों को सम्मानित किया गया।कार्यक्रम की अध्यक्षता उप्र हिंदी संस्थान के कार्यकारी अध्यक्ष प्रोफेसर सदानन्द गुप्त ने की।

दीप प्रज्ज्वलन व सरस्वती वंदना के साथ शुरू हुए इस कार्यक्रम में साहित्यिक पुस्तको को लोकार्पण के बाद लेखन क्षेत्र में उकृष्ठ कार्य कर रहे यदुनाथ सिंह मुरारी सहित आधा दर्जन साहित्यधर्मियों को राज्यपाल ने अपने शुभ हांथो से सम्मानित किया।शब्दार्थ गौरव पुरस्कार से सम्मानित हुए श्री मुरारी पूर्व में डॉ राम मनोहर लोहिया विवि फैजाबाद के पत्रकारिता एवं जनसंचार विभाग के असिस्टेंट प्रोफेसर के रूप में नवोदित प्रतिभाओ को अपनी सेवाएं दे चुके हैं।अब तक इनकी दो दर्जन से अधिक पुस्तकें प्रकाशित हो चुकी है और चार पुस्तको को अखिल भारतीय पुरस्कार से सम्मानित किया जा चुका है।लखीमपुर के बांकेगंज से निकली यह साहित्यिक प्रतिभा राष्ट्रीय पुरस्कार से भी नवाजी जा चुकी है और प्रदेश की राजधानी लखनऊ में विभिन्न लोकप्रिय हिंदी दैनिक व साप्ताहिक समाचारपत्र, पत्रिकाओं में लोकोपयोगी सेवा देने के साथ तराई तपोभूमि नामक साप्ताहिक समाचार पत्र के मुद्रक, प्रकाश व स्वामी की भूमिका का निर्वाह किया जिसका विमोचन पूर्व प्रधानमंत्री अटल विहारी वाजपेयी ने किया था।इसके अलावा प्रभा श्री साहित्य महोत्सव में राज्यपाल ने पं रघुराज दीक्षित, डॉ अनुज प्रताप सिंह, सुरेश कुमार सिंह आईएएस, राजेश कुमार जायसवाल, पद्मिनी श्वेता सिंह साहित्यकारों को सम्मानित किया।कार्यक्रम का समापन राष्ट्रगान के साथ किया गया।

Comments

comments