जेवर गैंगरेपः यूपी पुलिस की बड़ी कामयाबी, एन्काउंटर में चार आरोपी गिरफ्तार

नई दिल्ली। जेवर-बुलंदशहर स्टेट हाईवे पर चार महिलाओं से हुए सामूहिक दुष्कर्म के मामले में ठीक दो महीने बाद बड़ी कामयाबी हासिल की है। यूपी पुलिस ने मुठभेड़ के दौरान महिलाओं से दुष्कर्म और परिवार के मुखिया की हत्या के आरोपी में चार लोगों को गिरफ्तार किया है, जबकि दो लोग भागने में कामयाब रहे।

यह था पूरा मामला

यहां पर बता दें कि जेवर-बुलंदशहर स्टेट हाईवे पर पर 24 मई की रात जेवर से बुलंदशहर जा रहे परिवार से बदमाशों ने लूटपाट की। परिवार के मुखिया ने लूटपाट का विरोध किया तो बदमाशों ने गोली मारकर उसकी हत्या कर दी। इस परिवार की सभी चारों महिलाओं का आरोप है कि उनके साथ गैंगरेप किया गया।

हैरानी की बात है कि वारदात के दौरान पुलिस से 100 नंबर पर कॉल कर मदद मांगी गई, लेक‍िन पुलिस वारदात के डेढ़ घंटे बाद मौके पर पहुंची। उस समय तक बदमाश घटना को अंजाम दे चुके थे।

जेवर के रहने वाले एक शख्स का रिश्तेदार बुलंदशहर के एक अस्पताल में भर्ती था। उसकी तबियत बिगड़ने पर परिवार के लोग 24 मई की रात करीब दो बजे कार में सवार होकर रिश्तेदार को देखने के लिए बुलंदशहर के लिए निकले।

घटनाक्रम के मुताबिक, साबौता गांव के पास करीब 6 बदमाशों ने उनकी कार के टायर में गोली मार दी। परिवार में 4 महिलाएं, 2 पुरुष और 2 बच्चे थे। जैसे ही गाड़ी रुकी, बदमाशों ने परिवार को हथियारों के बल पर बंधक बना लिया और लूटपाट शुरू कर दी। लूटपाट का विरोध करने पर बदमाशों ने परिवार के मुखिया को गोली मार दी, जिससे उनकी मौत हो गई। परिवार के दूसरे मेंबर्स के साथ भी मारपीट की गई।

एक पीड़ित महिला के मुताबिक, इस वारदात को 6 बदमाशों ने मिलकर अंजाम दिया। उनके पास तमंचे, चाकू और सरिया था। लूटपाट के बाद उन्होंने हमें बंधक बना लिया। इसके बाद वे महिलाओं को दूसरी जगह ले गए और उनके साथ रेप किया। लगातार बदमाश धमकी दे रहे थे।

इस पर भी डालें नजर

नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो (NCRB) की रिपोर्ट के मुताबिक, गैंगरेप के मामले उत्तर प्रदेश में सबसे ज्यादा हैं। यहां 2014 में सबसे ज्यादा 762 गैंगरेप हुए थे। रेप के मामले में यूपी देश में तीसरे नंबर पर है। 2014 में यहां रेप के 3467 केस सामने आए थे। 2014 में देश में रेप के 36735 केस सामने आए थे। इनमें मध्य प्रदेश पहले (5076 केस) और राजस्थान (3759 केस) दूसरे नंबर पर है।

Comments

comments