डॉ सुशील सिन्हा ने किया केपी ट्रस्ट अध्यक्ष के लिए नामांकन

एल एन सिंह, इलाहाबाद: एशिया के सबसे बड़े ट्रस्ट के रूप में माने जाने वाले कायस्थ पाठशाला के चुनाव में अध्यक्ष पद के लिए डॉ सुशील सिन्हा ने अपने समर्थकों के साथ नामांकन किया। डॉ सिन्हा का नामांकन जुलूस मेडिकल चौराहे से चल कर केपी ट्रस्ट कार्ययालय पहुंचा जिसमें आर के श्रीवास्तव, शरद श्रीवास्तव, प्रदीप श्रीवास्तव, अनुराग श्रीवास्तव, डॉ ऋतू सिन्हा आदि सैकड़ों लोग शामिल हुए।

नामांकन के बाद डॉ सिन्हा ने चित्रगुप्त मंदिर में जाकर दर्शन किये और अपने चुनावी अभियान की शुरुआत किया। इस अवसर पर मंच से बोलते हुए डॉ. सिन्हा ने कहा की मुंशी काली प्रसाद ने 1873 में कायस्थ परिवार के शिक्षा , स्वास्थ और रोजगार के उद्देश्य से कायस्थ पाठशाला का निर्माण किया जिसे एशिया में सबसे बड़ा ट्रस्ट कहा जाता है।

डॉ. सिन्हा ने चिंता जाहिर करते हुए कहा कि ट्रस्ट में राजनीती के प्रवेश की वजह से आज मुख्य उद्देश्य पूरा नहीं हो पा रहा है आज कुछ लोगों ने अपने निजी स्वार्थ के लिए केपी ट्रस्ट को व्यवसायिक संसथान बना लिया है, जिससे आज ट्रस्ट से कायस्थ समाज के विधवा, विकलांग और बच्चों को कोई सहारा नहीं मिल रहा है।

डॉ. सिन्हा ने अपने उद्देश्य को बताते हुए कहा कि उनका उद्देश्य अध्यक्ष के रूप में सभी शैक्षिक संस्थानों का उन्नयन कराना , नौकरी उन्मुख शैक्षिक कार्यक्रम चलाना , एक केपी ट्रस्ट के अस्पताल का निर्माण करना और अधिकतम ऑनलाइन कायस्थ परिवार को ट्रस्ट से जोड़ने का होगा। डॉ. सिन्हा की पत्नी डॉ. ऋतू सिन्हा ने उपस्थित कायस्थ परिवार से अपने पति के लिए अच्छे काम के मद्देनजर सबसे वोट माँगा।

Comments

comments