रेलवे बोर्ड के चेयरमैन एके मित्तल ने दिया इस्तीफा

नई दिल्ली। रेलवे बोर्ड के चेयरमैन एके मित्तल ने इस्तीफा दे दिया है। बीते एक हफ्ते में हुए दो बड़े रेल हादसों से इस इस्तीफे को जोड़कर देखा जा रहा है। मित्तल ने अपना इस्तीफा रेल मंत्री को सौंप दिया है। हालांकि, मीडिया रिपोर्ट्स में कहा गया है कि उनका इस्तीफा स्वीकार नहीं किया गया है। बता दें कि इन हादसों को लेकर रेल मंत्री सुरेश प्रभु पर भी खासा दबाव है। विरोधियों ने उनका इस्तीफा मांगा है।

रेलवे प्रशासन पर लापरवाही का आरोप
बता दें कि शनिवार को मुजफ्फरनगर जिले के खतौली में कलिंग-उत्कल एक्सप्रेस के हादसे का शिकार होने की वजह से 22 लोगों की जान चली गई थी। 200 से ज्यादा लोग घायल हुए थे। वहीं, बुधवार को आजमगढ़ से दिल्ली जाने वाली कैफियत एक्सप्रेस एक बालू के डंपर से टकरा गई, जिसकी वजह से 78 लोग घायल हो गए। दोनों ही हादसों में रेलवे अधिकारियों पर लापरवाही बरतने का आरोप लगा है। उत्कल एक्सप्रेस हादसे में बिना किसी को जानकारी दिए पटरी की मरम्मत किए जाने की बात सामने आई थी।

अधिकारियों पर हुई थी कार्रवाई
हादसों पर घिरने के बाद सुरेश प्रभु ने उत्कल ट्रेन एक्सिडेंट पर जिम्मेदारी तय करने को कहा था। इसके बाद, रेलवे ने बड़ी कार्रवाई करते हुए नॉर्दर्न रेलवे के जीएम आरएन कुलश्रेष्ठ और दिल्ली रीजन के डीआरएम आर.एन. सिंह को छुट्टी पर भेज दिया था। कुछ अधिकारियों को सस्पेंड कर दिया गया, जिनमें पी-वे डिपार्टमेंट के जेई, एसएसई, सेक्शन के एईएन और दिल्ली के सीनियर डीईएन शामिल थे। वहीं, चीफ ट्रैक इंजिनियर का भी तबादला कर दिया गया था।

Comments

comments