भंवरी देवी मर्डर केस की मुख्य आरोपी इंदिरा बिश्नोई गिरफ्तार

देवास: भंवरी देवी मर्डर मामले की मुख्य आरोपी इंदिरा बिश्नोई को गिरफ्तार कर लिया गया है। 6 साल से फरार इंदिरा को राजस्थान ATS की टीम ने गिरफ्तार किया है। इंदिरा पर 5 लाख रुपये का इनाम था। जानकारी के मुताबिक इंदिरा नर्मदा नदी के किनारे ही घर बनाकर रह रही थी और वहीं से उन्हें गिरफ्तार किया गया है। शनिवार को इंदिरा को जोधपुर में सीबीआई को सौप दिया जाएगा।

राजस्थान पुलिस की टीम ने मध्य प्रदेश पुलिस की मदद से शुक्रवार की रात नेमावर नाम की जगह से इंदिरा बिश्नोई को गिरफ्तार किया। भंवरी देवी अपहरण और मर्डर केस में नाम आने के बाद से ही इंदिरा फरार चल रही थीं और इस बीच उन्होंने अपने मोबाइल और एटीएम का भी यूज नहीं किया। इस मामले में एक पूर्व मंत्री और एक विधायक सहित 16 आरोपी जेल में है। लापता होने से पहले इंद्रा बिश्नोई ने मीडिया के सामने यह भी कहा कि उसने मुंह खोल दिया तो कई बड़े लोग संकट में आ जाएंगे।

सूत्रों के मुताबिक, राजस्थान सरकार के बर्खास्त मंत्री महिपाल मदेरणा और कांग्रेस विधायक मलखान सिंह ने सही राम की मदद से भंवरी देवी की हत्या की साजिश रची थी। सही राम इंदिरा बिश्नोई का मुख्य सहयोगी था। सही राम ने भंवरी का अपहरण करने के बाद कार में उसकी हत्या कर दी थी।

36 साल की भंवरी देवी सहायक नर्स थीं। उनके पति अमरचंद ने आरोप लगाया था कि मदेरणा भंवरी को अक्सर फोन किया करते थे। भंवरी ने मदेरणा से ऐसा न करने को कहा। मदेरणा ने उलटे भंवरी पर उन्हें फोन करने का आरोप लगाया। भंवरी के पास कथित रूप से एक सीडी थी, जिसमें उसे और मदेरणा को आपत्तिजनक अवस्था में दिखाया गया था। लापता होने से पहले वह सीडी का इस्तेमाल मदेरणा को ब्लैकमेल करने के लिए कर रही थी।

Comments

comments