प्रधानमंत्री का किसी को ट्विटर पर फॉलो करना ‘चरित्र प्रमाण’ पत्र देना नहीं : बीजेपी

नई दिल्ली: बेंगलुरु में पत्रकार गौरी लंकेश की हत्या के बाद ट्विटर पर उनके खिलाफ आपत्तिजनक भाषा के इस्तेमाल करने वाले एक यूजर को ट्विटर पर पीएम मोदी की ओर से फॉलो करने के विवाद के बाद बीजेपी की ओर से सफाई दी गई है. जिसमें कहा गया है कि पीएम मोदी ने किसी को न तो अभी तक ब्लॉक या अनफॉलो नहीं किया है. बीजेपी की ओर से ट्विटर पर जारी बयान में कहा गया है कि किसी को भी ट्विटर पर फॉलो करना उसके ‘चरित्र को प्रमाणपत्र’ देना नहीं है. बीजेपी ने कहा है कि प्रधानमंत्री मोदी ने दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल को भी अनफॉलो नहीं किया जब उन्होंने प्रधानमंत्री के खिलाफ अभद्र भाषा का इस्तेमाल किया था. साथ ही राहुल गांधी को भी अनफॉलो नहीं किया था जबकि उनका नाम भ्रष्टाचार के मामले में उनका नाम है.

वहीं आम आदमी पाार्टी की ओर से बीजेपी से पूछा गया है कि बताएं कि अरविंद केजरीवाल किसी ऐसे शख्स को फॉलो करते हैं जो रेप की धमकी देता हो. गौरतलब है कि पत्रकार गौरी लंकेश की हत्या के बाद कुछ लोगों ने सोशल मीडिया में उनके लिए अभद्र का भाषा का प्रयोग किया था.

लेकिन जब पता चला कि उनमें से कुछ लोग ऐसे भी हैं जिनको पीएम मोदी भी फॉलो करते हैं तो सोशल मीडिया साइट पर लोगों ने अपना गुस्सा जाहिर किया. इतना ही नहीं, ट्विटर पर काफी देर तक #BlockNarendraModi ट्रेंड करता रहा.

आपको बता दें कि कट्टरता के खिलाफ मुखर आवाज बन चुकीं पत्रकार गौरी लंकेश को बेंगलुरु स्थिति उनके घर के सामने बाइक सवारों ने गोली मार दी थी. शक जताया जा रहा है कि उनको किसी कट्टरपंथी संगठन से जुड़े लोगों ने मारा है. वहीं कुछ लोगों का कहना है कि इसमें नक्सलियों का भी हाथ हो सकता है. उनकी हत्या के बाद से बेंगलुरु से लेकर दिल्ली तक विरोध प्रदर्शन शुरू हो गए. वहीं निखिल दधीच नाम के शख्स ने ट्विटर पर गौरी लंकेश के खिलाफ आपत्तिजनक भाषा का इस्तेमाल किया. इस शख्स को पीएम मोदी और केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद फॉलो करते रहे हैं. हालांकि रविशंकर प्रसाद ने उसको अनफॉलो करते हुए उसकी निंदा की है.

Comments

comments