जेईई की परीक्षा में चमके सूरत के विद्यार्थी

सूरत। सीबीएसई ने वेबसाइट पर गुरुवार को जेईई मेन का परिणाम जारी किया। इस परीक्षा में सूरत के कई विद्यार्थियों ने जेईई एडवान्स के लिए क्वालिफाई किया है। इस बार जेईई का कट ऑफ नीचे आने के कारण कई विद्यार्थी निराश भी हुए हैं।
सीबीएसई की ओर से 2, 8 और 9 अप्रेल को जेईई मेन की परीक्षा ली गई थी। इसका परिणाम गुरुवार को वेबसाइट पर जारी किया गया। सूरत एवं आसपास के क्षेत्रों से हजारों विद्यार्थियों ने जेईई मेन की परीक्षा दी थी। इस परीक्षा में सूरत के आशीष राजपाल ने 201, केविन अरवाडिय़ा ने 430, ऋतवी भंडारी ने 606, वृंदा ध्रुव ने 930, यश अग्रवाल ने 703, कृणाल मोहता ने 1783, वैभव बाड़वा ने 1480, मिथवीक भंडारी ने 1175वां स्थान हासिल किया है। इसके अलावा कई अन्य विद्यार्थी भी प्रथम 10,000 विद्यार्थियों में स्थान हासिल करने में सफल रहे हैं।
सभी विद्यार्थी 21 मई को होने वाली जेईई एडवान्स के लिए क्वालिफाई हुए हैं। शुक्रवार को जेईई एडवान्स के लिए पंजीकरण शुरू होगा, जो 2 मई तक चलेगा। इस बार जेईई मेन का कट ऑफ काफी नीचे आया है। 360 अंक में से जनरल का 81, ओबीसी का 49, एससी का 32 और एसटी का 27 अंक कट ऑफ है।
अब विद्यार्थियों को मिलेगी जेईई की भी आन्सर-शीट
केन्द्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने अब जेईई की आन्सर-शीट विद्यार्थियों को देने का निर्णय किया है। परिणाम से नाखुश हजारों विद्यार्थी आरटीआई के माध्यम से आन्सर-सीट मांगते हैं। अब सीधे तौर पर विद्यार्थियों को आन्सर-शीट प्राप्त होगी। हालांकि व्यावसायिक हित में आन्सर-शीट का उपयोग किया तो भारी पड़ सकता है। सीबीएसई ने गुरुवार को जेईई मेन का परिणाम जारी किया। साथ ही सीबीएसई ने अब विद्यार्थियों को जेईई मेन की आन्सर-शीट देने का फैसला किया है। इसके लिए विद्यार्थियों को आवेदन के साथ 500 रुपए की फीस देनी होगी। आवेदक विद्यार्थी को उनकी आन्सर-शीट दी जाएगी। आवेदन करने की जानकारी वेबसाइट पर जारी की गई है।
गलत उपयोग पड़ेगा भारी
सीबीएसई ने साथ में एक चेतावनी भी जारी की है। कई संस्थान एवं स्कूल ऐसे भी हैं जो आन्सर-शीट हाथ में आते उसके माध्यम से अपना प्रचार प्रसार करते हंै। इसलिए सीबीएसई ने चेताया है कि अगर आन्सर-शीट का किसी भी संस्थान, स्कूल और विद्यार्थी ने गलत उपयोग किया तो उसे भारी पड़ सकता है।
जारी की आन्सर-की
सीबीएसई ने गुरुवार को जेईई मेन के परिणाम के साथ उसकी आन्सर-की भी जारी की है। वेबसाइट पर आन्सर-की अपलोड की गई है। विद्यार्थी इसके माध्यम से अपने परिणाम की जांच कर सकते है, जिससे उन्हें पता चल सके कि उन्होंने कहां कहां गलती की है।

Comments

comments