…तो दिल्ली में इलेक्ट्रिक कारों का रास्ता साफ!

नई दिल्ली: नागपुर में ई-वीइकल्स के टैक्सी के तौर पर दौड़ने के बाद दिल्ली-एनसीआर में अब वैकल्पिक ऊर्जा से चलने वाले वाहनों का रास्ता साफ होने जा रहा है। नैशनल थर्मल पावर कॉरपोरेशन लिमिटेड ने दिल्ली-नोएडा में ई-वीइकल्स के लिए चार्जिंग स्टेशन स्थापित करने शुरू कर दिए हैं। एनसीआर में कई अन्य जगह ये स्टेशंस स्थापित किए जाएंगे।

शहर में पर्यावरण सुरक्षा व वैकल्पिक ऊर्जा से चलने वाले वाहनों को प्रोत्साहन की मंशा के साथ इन स्टेशनों की स्थापना की जा रही है। एनटीपीसी द्वारा आधिकारिक तौर पर जारी किए गए बयान में कहा गया कि कंपनी अन्य शहरों में भी इस तरह की योजना पर काम कर रही है। एनटीपीसी के अलावा पावरग्रिड भी इस मिशन का हिस्सा है।

आपको बता दें कि इलेक्ट्रिक वीइकल्स को कैब के तौर पर चलाने में महाराष्ट्र का नागपुर शहर रेकॉर्ड बना चुका है। 50 करोड़ के ओला के निवेश ने इस शहर में 50 से ज्यादा इलेक्ट्रिक वीइकल्स चार्जिंग स्टेशन खुलवाने में मदद की थी। इन स्टेशंस पर 200 बसें, कारें ऑटो व रिक्शे चार्ज होते हैं।

गाड़ियों को चलाने में होने वाले खर्च और देश के ईंधन आयात बिल में कमी लाने के उद्देश्य से भारत चाहता है कि 2030 तक उसके यहां सिर्फ इलेक्ट्रिक कारें ही बिकें। बिजली मंत्री पीयूष गोयल ने उद्योग मंडल CII के सालाना सत्र 2017 को संबोधित करते हुए यह मंशा जताई थी।

Comments

comments